Pause adblock if can't play video
'पति की लाश घर में पड़ी है, बच्चे रो रहे हैं, हमें घर पहुंचा दीजिए', दिल्ली में फंसी महिला का दर्द
Oneindia Hindi | वनइंडिया हिन्दी

Oneindia Hindi | वनइंडिया हिन्दी

4043Subscrice


heart-wrenching-story-of-migrant-labour-woman-who-lost-her-husband-in-bihar

नोएडा। कोरोना वायरस की वजह से देशभर में जारी लॉकडाउन का अगर किसी पर सबसे बुरा असर पड़ा है तो वह हैं मजदूर। शहर-शहर, सड़क-सड़क चिलचिलाती धूप और भूख-प्यास से बेहाल ये मजदूर महामारी से तो बच रहे हैं, लेकिन भूख और हादसों की वजह से रोजाना काल के गाल में समा जा रहे हैं। मजदूरों के पलायन की सबसे बड़ी वजह यह है कि इनके पास रहने को छत नहीं, खाने को खाना नहीं और जेबें खाली हो चुकी हैं। ऐसे में इन्हें मजबूरन घर की ओर रुख करना पड़ रहा है, जहां दो वक्त की रोटी न सही पर अपनों के साथ रहने का सुकुन तो मिलेगा। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान से रोजाना ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं, जो मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देनी वाली हैं। ऐसा ही एक मामला यूपी गेट के पास सामने आया, जहां एक सिर पर झोला लिए एक बेबस महिला को दिल्ली-यूपी बॉर्डर के पास रोक दिया गया। इस महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया है।